Saturday , Nov 25 2017

लोकप्रिय ख़बरें

रूबी रत्न पहनने से होते है ये ज्योतिषीय लाभ !

Rochak Khabare
04, Nov 2017, 11:32

703 492 इंटरनेट डेस्क: ज्योतिष विद्या में, माणिक या रूबी रत्न को सूर्य के साथ संबंध होने के कारण रत्नो के राजा के रूप में जाना जाता है। यह व्यक्ति के जीवन में जीवंतता उत्पन्न करता है, जन्मकुंडली में सूर्य की गलत स्थिति के कारण होने वाले हानिकारक प्रभावों को नष्ट कर देता है और अच्छा स्वास्थ्य प्रदान करता है। यह एक व्यक्ति की सूक्ष्म ऊर्जा को प्रभावित करने के लिए जाना जाता है। हालांकि आपके कार्यों को ग्रहों की स्थिति और आपके खुद के कर्मों द्वारा शासित किया जाता है, रूबी पहनना हमारे अधिकार, साहस और गरिमा को बढ़ाता है। अगर जन्म कुंडली में पितृदोष है और आप वित्तीय और पेशेवर अस्थिरता का सामना करते है तो आपको यह पहनने का सुझाव दिया जाता है। रूबी के बारे में तथ्य #8211; ज्योतिषियों द्वारा लाल रंग के रत्न रूबी की सिफारिश सामान्यतया आपके जीवन और व्यक्तित्व को बाधित करने वाली नकारात्मक ऊर्जा से लड़ने के लिए पर्याप्त शक्तिशाली बनाने के लिए की जाती है। यह सूर्य का प्रतिनिधित्व करता है और यदि आपकी कुंडली में सूर्य ऊंचा है, तो आप गौरव और सर्वोच्च शक्ति का आनंद लेंगे। यदि किसी कारणवश यह कमजोर है, तो आपकी कुंडली में सूर्य की गलत स्थिति के द्वारा उत्पन्न बुरे प्रभाव को कम करने की आवश्यकता है। इसके महत्व और लाभ #8211; जब रूबी को अंगूठी या लटकन में पहना जाता है, तो इस रत्न की शक्ति आसानी से एक व्यक्ति के व्यक्तित्व में अवशोषित हो जाती है। इसे पहनने वाला व्यक्ति आत्मविश्वास और ऊर्जा से भरा रहता है। एक गलत रत्न पहनने के परिणामों को केवल विशेषज्ञ ही जानते है, इसलिए रूबी रत्न के लाभ लेने के लिए इसे पहनने से पहले ज्योतिषियों से परामर्श करने की सलाह दी जाती है। कुंडली में कमजोर या गलत स्थिति में सूर्य ब्लड प्रेसर, हड्डियों, हृदय से संबंधित कई स्वास्थ्य समस्याएं पैदा करता है, इसलिए इस से लड़ने और उन स्वास्थ्य संबंधी समस्यायों का इलाज करने के लिए रूबी रत्न पहनने की सलाह दी जाती है। इस रत्न को कैसे पहनें #8211; यदि कोई ज्योतिषी आपको रूबी पहनने का सुझाव देता है और अगर आपकी राशि मेष, धनु, सिंह या वृश्चिक है तो इस रत्न को सोने की अंगूठी में पहनना चाहिए। अन्य लोग इसको चांदी की अंगूठी में पहन सकते है। इसके अलावा, इस रत्न के सबसे अच्छे लाभ लेने के लिए निर्धारित विधि द्वारा इस रत्न को अच्छी तरह से सक्रिय करने के बाद रविवार को (शुक्ल पक्ष) या फिर कच्चे दूध या गंगाजल में धोकर पहने। The post रूबी रत्न पहनने से होते है ये ज्योतिषीय लाभ ! appeared first on न्यूज फिलर.

चर्चित खबरें

सुझाया गया

loading...

रेकमेंडेड आर्टिकल्स

ट्रेंडिंग वीडियो

loading...
© Copyright © 2017 Newsfiller All rights reserved