Thursday , Nov 23 2017

लोकप्रिय ख़बरें

यहां आज भी मौजूद है श्रीराम के पैरों के निशान, रामायण से है खास संबंध

Dainik Bhaskar
13, Nov 2017, 11:30

मध्यप्रदेश के सतना जिले में मंदाकिनी नदी के किनारे पर बसा चित्रकूट वह स्थान है, जहां पर भगवान राम ने अपने वनवास का शुरुआती समय बिताया था। यहीं पर राम-भरत मिलाप का प्रसंग हुआ था और भरत ने राम की चरणपादुकाएं ली थीं। यह जगह बहुत ही सुंदर होने की वजह से महर्षि वाल्मीकि ने भगवान राम को वनवास के दौरान इस स्थान पर रहने की सलाह दी थी। चित्रकूट के मुख्य जलप्रताप लगभग 95 फीट की ऊंचाई से गिरता है, इसलिए इसे भारत का नियागरा फॉल कहा जाता है। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए न्यूज फिलर ऍप डाउनलोड करें

चर्चित खबरें

सुझाया गया

loading...

रेकमेंडेड आर्टिकल्स

ट्रेंडिंग वीडियो

loading...
© Copyright © 2017 Newsfiller All rights reserved