Wednesday , Nov 22 2017

लोकप्रिय ख़बरें

राज्य सरकार में मांगा टैक्सटाइल मंत्रालय

Rajasthan Patrika
15, Nov 2017, 12:30

सूरत।विधानसभा चुनावों के लिए घोषणा पत्र पर चर्चा के लिए सूरत आए देश की आईटी क्रांति के जनक सैम पित्रोदा से व्यापारियों ने राज्य सरकार में टैक्सटाइल मंत्रालय की मांग की। उन्होंने कहा कि कपड़ा प्रदेश का मुख्य व्यवसाय है और हमें बार-बार दिल्ली जाना पड़ता है। पित्रोदा से मिले लोगों ने सस्ती शिक्षा, रोजगार और अन्य मुद्दों को भी मेनिफेस्टो का हिस्सा बनाने का सुझाव दिया। कांग्रेस इस वक्त प्रदेश के मेनिफेस्टो पर काम कर रही है। इसे अंतिम रूप देने से पहले सैम पित्रोदा और राज्यसभा सांसद मधुसूदन मिस्त्री सोमवार को सूरत आए। साइंस सेंटर में व्यापारियों से बातचीत करते हुए उन्होंने सुझाव मांगे जिन्हें मेनिफेस्टो का हिस्सा बनाया जा सके। संवाद कार्यक्रम में चर्चा के दौरान कपड़ा व्यापारियों ने कहा कि टैक्सटाइल प्रदेश का मुख्य व्यवसाय है। राज्य सरकार के ढांचे में एक टैक्सटाइल मंत्रालय भी होना चाहिए। इससे कपड़ा उद्यमियों को बार-बार दिल्ली जाने और गांधीनगर में भी इधर-उधर भटकने से निजात मिलेगी। सचिन वीवर्स एसोसिएशन ने बिजली की दरों में कमी और प्रोफेशनल टैक्स से निजात की मांग भी की। सैम से मिलने आए अन्य लोगों ने सस्ती शिक्षा, सुलभ इलाज और आंगनवाडियों के रिक्त पदों को भरने का मुद्दा भी उठाया। उन्होंने कहा कि युवाओं को रोजगार बड़ी समस्या है और इसे मेनिफेस्टो का हिस्सा बनाया जाना चाहिए। सैम पित्रोदा और मिस्त्री की टीम शाम को चैम्बर पदाधिकारियों से भी मिली और मेनिफेस्टो के लिए उनसे भी सुझाव मांगे। यह रहे मुददे प्रदेश सरकार में टैक्सटाइल मंत्रालयप्रोफेशनल टैक्स पूरी तरह खत्म होछोटे उद्योगों को सब्सिडीउद्योगों को सस्ती बिजलीजीएसटीसस्ती और गुणवत्तापूर्ण शिक्षासस्ती स्वास्थ्य सेवाएंउद्योगों को रिसर्च पर प्रोत्साहनमहिला सुरक्षाचिकित्सकों के रिक्त पदों पर नियुक्तिकृषि विकास पर फोकसलैंड एक्विजिशन नियम हो तर्कसंगत पहली बार कवायद सैम पित्रोदा ने कहा कि अब तक हम लोगों से निजी संपर्क के आधार पर मेनिफेस्टो के लिए सुझाव मांगा करते थे। यह पहली बार है जब कांग्रेस व्यवस्थित तरीके से लोगों की सलाह के मुताबिक अपना मेनिफेस्टो तैयार कर रही है। इसके लिए टीम प्रदेश के पांच शहरों में गई और लोगों से संवाद किया। शुरुआत वड़ोदरा से हुई और अहमदाबाद, राजकोट, जामनगर होते हुए सोमवार को सूरत पहुंचे। हमने हर क्षेत्र के लोगों से बात कर उनके सुझाव लिए। अब हमारी टीम इसका एनेलिसिस कर रिपोर्ट तैयार करेगी। उसके बाद फाइनल मेनिफेस्टो पर काम शुरू होगा।

चर्चित खबरें

सुझाया गया

loading...

रेकमेंडेड आर्टिकल्स

ट्रेंडिंग वीडियो

loading...
© Copyright © 2017 Newsfiller All rights reserved