Saturday , Nov 25 2017

लोकप्रिय ख़बरें

यहां भी शुरू हुआ पद्मावती फिल्म का विरोध

Rajasthan Patrika
15, Nov 2017, 03:00

हाथरस। रानी पद्मावती फिल्म को लेकर इन दिनों देश में बवाल मचा हुआ है, विरोध की आग हाथरस जिले तक आ पहुंची है। बजरंग दल और हिंदू क्रांति सेना युवा मोर्चा पदाधिकारियों ने राज्यपाल के नाम तहसीलदार को एक ज्ञापन सौंपा। जिसमें पदाधिकारियों ने पद्मावती फिल्म में इतिहास को तोड़ मरोड़कर दिखाए जाने पर आपत्ति व्यक्त की है। यह भी पढ़ें : संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती का विरोध, रिलीज होने पर उग्र प्रदर्शन की चेतावनी गौरवमयी इतिहास का हुआ महिमा मंडन उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल राम नाईक के नाम तहसीलदार ठाकुर प्रसाद को सौंपे ज्ञापन में पदाधिकारियों ने कहा है कि राजस्थान के मेवाड़ एवं गौरवमयी पृष्ठभूमि पर निर्मित फिल्म पद्मावती में वास्तविक इतिहास के तथ्यों को तोड़ मरोड़कर पेश किया जा रहा है, जो जनभावनाओं पर कुठाराघात है। ज्ञापन में कहा है कि यदि बाॅलीवुड हमारे गौरवमयी इतिहास का महिमा मंडन करने के लिए फिल्म बनाता है, तो इसका मुख्य उद्देश्य यह होना चाहिए कि हमारी भावी पीड़ी गौरवशाली अतीत सीख सके। रानी पद्मावती एक प्रेरणाश्रोत थीं उसका बुरे ढंग से प्रस्तुतीकरण नहीं करना चाहिए। फिल्म में आपत्तिजनक दृश्यों को हटाकर फिल्म का संपादन करना चाहिए। ऐतिहासिक महिला का फिल्मांकन सत्य पर होना चाहिए। अगर अलाउद्दीन खिलजी जैसे हत्यारे को महिमा मंडित किया जाता है तो पूरे देश का अपमान है। यह भी पढ़ें : बैंड बाजे वाली शादियों का मुस्लिम करें बहिष्कार: उलेमा इस फिल्म पर हो उचित कार्रवाई ज्ञापन में कहा है कि यदि समय रहते उचित कार्रवाई नहीं की गई तो मजबूरन युवाओं को आंदोलन के लिए बाध्य होना पड़ेगा। ज्ञापन देने वालों में मनीष जादौन, अंकित उपाध्याय, ठाकुर अमित तौमर, ठा. सुभाष जादौन, मयंक जादौन, मयंक माहेश्वरी, धीरज शर्मा, कपिल चैहान, मनोज जादौन, विक्रम सिंह जादौन, पवनेश, रजत सानों, काव्या चौधरी, भानू ठाकुर, सुमित पाठक, बिट्टू जादौन, भानू जादौन, काना जादौन, गोपाल, आदि मौजूद थे। यह भी पढ़ें : आजादी की खातिर जब पंडित नेहरू बने कैदी नंबर 582, जानिए ये रोचक बातें

चर्चित खबरें

सुझाया गया

loading...

रेकमेंडेड आर्टिकल्स

ट्रेंडिंग वीडियो

loading...
© Copyright © 2017 Newsfiller All rights reserved