Tuesday , Nov 21 2017

लोकप्रिय ख़बरें

19 साल के लंबे इंतजार के बाद रेलवे ने जिले को दी इतनी बड़ी सौगात

Rajasthan Patrika
15, Nov 2017, 07:30

रायगढ़. आखिरकार करीब दो दशक के इंतजार के बाद रायगढ़ की झोली में कोचिंग टर्मिनल डल गया है। जिसकी घोषणा रायपुर प्रवास के दौरान रेल मंत्री पीयूष गोयल ने सोमवार को की। रेल मंत्री के इस घोषणा के बाद रायगढ़वासियों मेंं उत्साह का माहौल देखा जा रहा है। वहीं इस बात को लेकर भी उम्मीदें बढ़ गई है कि अब रायगढ़ में जनशताब्दी व गोंडवाना एक्सप्रेस के अलावा कुछ अन्य टे्रेनें भी मिल सकती हैं। जो रायगढ़ रेलवे स्टेशन से छूटेंगी। विदित हो कि रायगढ़ में कोचिंग टर्मिनल को लेकर वर्ष 1998 में पूर्व रेल मंत्री नीतीश कुमार की घोषणा की थी। जिसके इंतजार में देखते ही देखते 19 साल बीत गए। रेल बजट पेश करने को लेकर जब तारीखों की घोषण होती है। शहरवासी या रायगढ़ से जुड़े लोग, उस दिन तय समय पर टीवी स्क्रीन के सामने बैठ टकटकी लगा कर सिर्फ इसलिए बैठे रहते हैं कि रायगढ़ को कोचिंग टर्मिनल मिला की नहींं। वर्ष 1998 के बाद यह सिलसिला करीब 19 साल तक लगातार चलता रहा। जिसका इंतजार पिछले सोमवार का खत्म हुआ। जानकारों की माने तो कोचिंग टर्मिनल मिलने से जनशताब्दी एक्सप्रेस व गोंडवाना एक्सप्रेस के अलावा कुछ नई ट्रेनें मिल सकती है। जो रायगढ़ से छूटेगी। इसके अलावा बिलासपुर की तर्ज पर लंबी दूरी की ट्रेनों का रायगढ़ में ठहराव का समय भी बढ़ेगा। जो फिलहाल 2 से 5 मिनट का है। इसके साथ ही रायगढ़ रेलवे स्टेशन का ग्रेड भी बढ़ जाएगा। जो वर्तमान में ए ग्रेड में शुमार हो रहा है। बिलासपुर व दुर्ग का बोझ होगा कम- जानकारोंं की माने तो रायगढ़ में कोचिंग टर्मिनल की स्वीकृति मिलने के बाद बिलासपुर व दुर्ग कोचिंग टर्मिनल का बोझ कम होगा। इसके साथ यह उम्मीद भी लगाई जा रही है कि बिलासपुर व दुर्ग से छूटने वाली कुछ ट्रेनों को विस्तार रायगढ़ तक किया जा सकता है। इससे उक्त ट्रेनों को रायगढ़ से छूटने की संभावना बढ़ गई है। ऐसे में रायगढ़ स्टेशन से रेल सुविधाओं का विस्तार होगा जिसका फायदा लोगों को मिलेगा।

चर्चित खबरें

सुझाया गया

loading...

रेकमेंडेड आर्टिकल्स

ट्रेंडिंग वीडियो

loading...
© Copyright © 2017 Newsfiller All rights reserved