Saturday , Nov 25 2017

लोकप्रिय ख़बरें

एक बहादुर आदिवासी नेता जिन्होंने अंग्रेजों को दी थी जबरदस्त चुनौती, जयंती पर PM मोदी ने किया नमन

Live India
15, Nov 2017, 08:31

बिरसा मुंडा की बात करें तो वो एक आदिवासी नेता थे। जिन्हें भारत में रांची और सिंहभूमि के लोग बिरसा भगवान के नाम से याद करते हैय़ 19वीं सदी में बिरसा भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के इतिहास में एक अहम कड़ी साबित हुए थे।
userfiles2016_11% बता दें बीरसा मुंडा का जन्म 15 नवंबर, 1875 को रांची में हुआ था। कुछ समय बाद बिरसा मुंडा ने जर्मन स्कूल में शिक्षा लेने के लिए ईसाई धर्म को स्वीकार किया था।लेकिन कुछ समय बाद उन्हें स्कूल से निकाल दिया गया था।
userfilesdownload%20(9)(114).jpg जन-सामान्य का बिरसा में काफ़ी दृढ़ विश्वास हो चुका था, इससे बिरसा को अपने प्रभाव में वृद्धि करने में मदद मिली। लोग उनकी बातें सुनने के लिए बड़ी संख्या में लोग आने लगे। बिरसा की बातों का प्रभाव यह पड़ा कि ईसाई धर्म स्वीकार करने वालों की संख्या तेजी से घटने लगी और जो मुंडा ईसाई बन गये थे, वे फिर से अपने पुराने धर्म में लौटने लगे।

चर्चित खबरें

सुझाया गया

loading...

रेकमेंडेड आर्टिकल्स

ट्रेंडिंग वीडियो

loading...
© Copyright © 2017 Newsfiller All rights reserved