Tuesday , Aug 22 2017

लोकप्रिय ख़बरें

अमेरिकी कमांडर ने भी माना, डोकलाम सीमा विवाद पर चीन आतंकवाद जैसा खतरा है

Live India
13, Aug 2017, 01:00

(4).jpg 437 भारतीय सैनिकों ने इस क्षेत्र में सड़क निर्माण करने से चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी को रोक दिया था जिसके बाद से बीते 50 से ज्यादा दिनों से डोकलाम क्षेत्र में भारत और चीन आमने-सामने हैं। अमेरिकी प्रशांत कमान के कमांडर एडमिरल हैरी बी। हैरिस ने विदेश मंत्रालय के विचार को रखते हुए कहा कि अमेरिका दोनों देशों को अपने मतभेदों को राजनयिक ढंग से सुलझाने के लिए प्रेरित करता है।
(10).jpg 378 डोकलाम गतिरोध के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि उनका मानना है कि जब भी दो महान शक्तियां साझा सीमा पर आमने-सामने होती हैं तो यह चिंता का विषय होता है। निश्चित ही यह एक संभावित खतरा है। लेकिन वे अपनी सरकार के नेताओं, अमेरिका के राष्ट्रीय नेतृत्व की भावनाओं को सामने रखेंगे, और वह यह है कि हम भारत और चीन दोनों को राजनयिक मेलजोल रखने के लिए प्रेरित करेंगे ताकि तनाव को कम करने में मदद मिले। हैरिस से पूछा गया कि क्या चीन डोकलाम में वही रणनीति अपना रहा है जो उसने यथास्थिति को बदलने के लिए दक्षिण चीन सागर में अपनाई थी, इस पर उन्होंने कहा कि इसका निर्धारण भारत को करना है।
315 एडमिरल हैरिस ने कहा कि इस बात का निर्धारण खुद भारत को ही करना होगा। इस बारे में मैं भारत की ओर से नहीं बोलना चाहता और क्या हो सकता है इस बारे में निश्चित ही कोई अटकलें भी नहीं लगाना चाहता। मेरा खयाल है कि जैसा अब प्रतीत हो रहा है, यह एक विवाद है और भारत तथा चीन को मिलकर इस पर काम करना होगा।हैरिस ने कहा कि दक्षिण और पूर्वी चीन सागर में पड़ोसियों के प्रति चीन की गतिविधियां दुष्टतापूर्ण हैं। उन्होंने कहा, मेरा मानना है कि पूर्वी चीन सागर और दक्षिण चीन सागर में चीन की गतिविधियां आक्रामक और उसके अपने पड़ोसियों के लिए दुष्टतापूर्ण हैं।;

चर्चित खबरें

सुझाया गया

loading...

रेकमेंडेड आर्टिकल्स

ट्रेंडिंग वीडियो

loading...
© Copyright © 2017 Newsfiller All rights reserved