Tuesday , Aug 22 2017

लोकप्रिय ख़बरें

अनोखा मंदिर: यहां फूलों की नहीं बल्कि चप्‍पलों की चढ़ती है माला

Rochak News
13, Aug 2017, 02:01

डेस्क। मंदिरों में फूलों की माला, सोना-चांदी का चढ़ावा तो हम सबने देखा या सुना ही होगा, मगर आपने क्या किसी ऐसे मंदिर के बारे में सुना है जहां फूलों या सोने-चांदी की जगह चप्पलें रखी जाती हों। ये अनोखा मंदिर कनार्टक के गुलबर्ग जिले में स्थित है। इस भव्‍य मंदिर में लकम्मा देवी विराजमान हैं। इस मंदिर में भक्त मां को खुश करने के लिए फूलों की माला में गुथी चप्पल की माला बांधते हैं।
data-original-294 data-original-172 हर साल यहां फुटवियर फेस्टिवल का आयोजन होता है। जिसमें अलग-अलग गांवों से लोग चप्पल चढ़ाने आते हैं। हर साल ये दिवाली के छठे दिन मनाया जाता है। लोग मन्नत मांगते हैं और पूरा होने के लिए मंदिर के बाहर के एक पेड़ पर चप्पलें टांगते हैं। चप्पल चढ़ाने से माता उनकी चढ़ाई गईं चप्पलों को पहनकर रात में घूमती हैं और बुरी शक्ति से उन्हें बचाती हैं। पहले यहां बैलों की बलि दी जाती थी मगर जानवरों की बलि पर रोक के बाद से बलि देना बंद कर दिया गया था।Read more: यहाँ सोने के सिक्के मिले तो खुदाई में जुटा पूरा गांव, 4 महीने से खोज रहे हैं खजाना !
data-original-293 data-original-172 इसे बंद करने के बाद से ही चप्पल की माला बांधने की परंपरा शुरू हो गई। ये त्‍योहार गांव में बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। दूर-दूर से लोग लकम्‍मा देवी के दर्शन करने के लिए आते हैं। उसे उसके पूरा होने के लिए मंदिर के बाहर के एक पेड़ पर आकर पूरी भाव भक्ति से चप्पलें टांगते हैं। इस तरह चप्पल चढ़ाने से ईश्वर उनकी बुरी शक्तियों से रक्षा करते हैं। मान्यता ये भी है कि इससे पैरों और घुटनों का दर्द हमेशा के लिए दूर हो जाता है। इस मंदिर में हिन्दू ही नहीं बल्कि मुसलमान भी आते हैं।NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !जयपुर में प्लॉट ले मात्र लाख में: 09314188188

चर्चित खबरें

सुझाया गया

loading...

रेकमेंडेड आर्टिकल्स

ट्रेंडिंग वीडियो

loading...
© Copyright © 2017 Newsfiller All rights reserved