Tuesday , Aug 22 2017

लोकप्रिय ख़बरें

फोन आया.. जब पहुंचे तो मृत मिली नव विवाहिता बेटी

Rajasthan Patrika
13, Aug 2017, 03:00

जबलपुर. शहर की एक और बेटी फिर दहेज की बलि चढ़ गई। महज दो लाख रुपए की मांग पूरी नहीं होने पर पति सहित ससुराल वालों ने अपनी बहू की गला दबाकर हत्या कर दी। जब पत्नी ने दम तोड़ दिया तो उसके पति ने ही मायकों वालों को फोन किया और उनकी बेटी के बीमार होने की सूचना दी। लेकिन मायके वाले जब बेटी से मिलने पहुंचे तो उसकी लाश मिली। हत्या का संदेह पुलिस के अनुसार पाटन थाना क्षेत्र के चपौंद निवासी भैयाजी पटेल की बहन रामेश्वरी का विवाह 3 मार्च, 2014 को अधारताल थाना क्षेत्र खिरिया निवासी उमेश उर्फ राजू पटेल से हुआ था। शादी के बाद से ही राजू उसकी बहन के साथ बेवजह मारपीट करता था। तीन दिन पहले राजू ने उसकी बहन के साथ जमकर मारपीट की थी। जिसके बाद पिता ने सुसराल जाकर राजू को समझाइश दी थी। इस दौरान राजू ने दो लाख रुपए की मांग की थी। फसल बेचकर मिलने वाली रकम से राजू को दो लाख रुपए देने वाले थे। लेकिन रकम मिलने में देर हुई तो राजू ने अपनी पत्नी को मार दिया। भैयाजी ने आरोप लगाया कि उसकी बहन की गला दबाकर हत्या की गई है। ससुराल पक्ष के सभी लोग मिलकर मामले को दबाने में जुटे है। पीएम कक्ष के बाहर विवाद रामेश्वरी की हत्या के मामले को लेकर विवाद उसके शव के मेडिकल कॉलेज में पीएम के दौरान सामने आया। सूत्रों के अनुसार पीएम कक्ष के बाहर सुसराल और मायके वालों के बीच में विवाद हुआ। दोनों पक्षों के लोगों ने एक-दूसरे पर आरोप लगाए। ससुराल वालों का कहना था कि रामेश्वरी बीमार रहती थी। बीमारी से परेशान होकर उसने रात में फांसी लगा ली। रामेश्वरी को फंदे से निकालकर अस्पताल लाए थे। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित किया। वहीं, मायके वाले रामेश्वरी को गला दबाकर मारने का आरोप लगा रहे थे। विवाद बढ़ता देख मेडिकल कॉलेज प्रबंधन ने पुलिस को सूचित किया। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर दोनों पक्षों से बात की। मायके वालों को संबंधित पुलिस थाना में शिकायत देकर जांच कराने की बात कही। इसके बाद हंगामा समाप्त हुआ। बीमार होने की सूचना दी मृतका रामेश्वरी के पिता महेश पटेल ने बताया कि राजू उनकी बेटी पर मायके से रुपए मांगने के लिए दबाव बनाता था। बेटी के बुलाने पर वे 11 अगस्त को उसकी सुसराल खिरिया गए थे। जहां राजू को बताया था कि मूंग की फसल बेची है, इसका भुगतान बैंक के जरिए मिलते ही रुपए दे दूंगा। उन्होंने आरोप लगाया कि रामेश्वरी के सुसराल वालों ने रात में करीब 1 बजे फोन किया था। फोन पर उन्होंने बेटी के बीमार होने और मेट्रो अस्पताल में भर्ती होने की जानकारी दी थी। लेकिन जब वे बेटी को देखने के लिए पहुंचे तो नशे में धुत राजू उनकी बेटी की लाश लेकर मेडिकल कॉलेज पहुंचा था।

चर्चित खबरें

सुझाया गया

loading...

रेकमेंडेड आर्टिकल्स

ट्रेंडिंग वीडियो

loading...
© Copyright © 2017 Newsfiller All rights reserved