Tuesday , Aug 22 2017

लोकप्रिय ख़बरें

गोरखपुर के बाद लहरपुर में भी ऑक्सीजन न मिलने से बच्ची की मौत

Rajasthan Patrika
13, Aug 2017, 04:00

सीतापुर. उत्तर प्रदेश के सीतापुर में स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही का बड़ा मामला सामने आया है। यहां के लहरपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में ऑक्सिजन ना मिलने की वजह से एक बच्ची की मौत हो गयी, जिसके बाद परिजनों ने अस्पताल में जमकर हंगामा काटा और डॉक्टरों पर ऑक्सिजन ना देने का आरोप लगाया। वहीं जिले का स्वास्थ्य विभाग बच्ची का पहले से ही मौत होने बात कह रहा है। मालूम हो गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में भी ऑक्सिजन से कमी के कारण ६० से अधिक बच्चों की मौत का मुद्दा पूरे देश में गरम है। वहीं, अब सीतापुर में ऐसा ही मामला सामने आने के बाद मामला और गरमाने की संभावना है। सूत्रों की मानें तो लहरपुर अस्पताल में दो फार्मासिस्ट तैनात हैं। एक फार्मासिस्ट हज यात्रा पर गया है और दूसरा दो दिन से छुट्टी पर है, जबकि अस्पताल में ऑक्सिजन सिलेंडर मौजूद था, लेकिन सिलेंडर लगाने वाला सक्षम व्यक्ति मौजूद नहीं था। मृतक बच्ची के परिजनों की मानें तो इलाज के मामले में भी जिले का यह अस्पताल पूरी तरह फेल है और मरीजों को किसी की भी कोई फ्रिक्र नहीं है। परिजनों ने यह भी आरोप लगाया कि डॉक्टरों द्वारा भी गंभीरता से उसी का इलाज किया जाता है, जो उनसे उनके आवास पर अलग से मिलता है। वहीं इस मामले में सीतापुर सीएमओ डॉ, ध्रुव नारायण सिंह का कहना है कि वे मामले में जांच कराएंगे। उन्होंने कहा कि इस मामले में जो भी दोषी पाया जाएगा उस पर कार्रवाई की जाएगी। गोरखपुर कांड की ठंडी नहीं हुई आंच कि एक और मामले ने बढ़ाया सियासी पारासूबे की योगी सरकार गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन न मिलने से हुई ६० से अधिक बच्चों की मौत के मामले में लगातार घिरती जा रही है। विपक्ष से लेकर मीडिया और आम जनमानस में सरकार के कामकाज और उनके मंत्रियों और अधिकारियों के बयानों को लेकर काफी किरकिरी हो रही है। ऐसे में बड़ा सवाल यह है कि गोरखपुर, लहरपुर के अलावा सूबे के और कौन-कौन से अस्पताल हैं, जहां ऑक्सीजन की मौजूदगी नहीं है और वहां जिंदगियां मौत से जूझ सकती हैं।

चर्चित खबरें

सुझाया गया

loading...

रेकमेंडेड आर्टिकल्स

ट्रेंडिंग वीडियो

loading...
© Copyright © 2017 Newsfiller All rights reserved