Tuesday , Aug 22 2017

लोकप्रिय ख़बरें

स्वतंत्रता दिवस:प्रदेश भर में सुरक्षा के कड़े इंतजाम

Rajasthan Patrika
13, Aug 2017, 05:00

बेंगलूरु. प्रदेश में स्वतंत्रता दिवस पर कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए सुरक्षा इंतजाम कड़े कर दिए जाएंगे लेकिन कोई विशेष हाई अलर्ट नहीं होगा। पुलिस महा निदेशक आर.के.दत्ता ने शनिवार को कहा कि सुरक्षा के मामले में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी जाएगी। प्रदेश के सभी पुलिस महा निरीक्षकों, पुलिस आयुक्तों और जिलों के पुलिस अधीक्षकों के साथ विडियो कॉन्फेरेंस भी की है। सुरक्षा के लिए कर्नाटक राज्य पुलिस आरक्षी बल (केएसआरपी) और जिला आरक्षी पुलिस बल (डीएआर) की टुकडिय़ों के अलावा गृह रक्षकों की मदद लेने का निर्देश दिया है। प्रदेश में कहीं भी आतंकी हमलों का खतरा नहीं है ना किसी तरह का कोई संदेश मिला है। पुलिस किसी भी आतंकी हमले का सामना करने में सक्षम है। उन्होंने कहा कि अति संवेदनशील क्षेत्रों, बेंगलूर अंतरराष्ट्रीय एअर पोर्ट, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, शॉपिंग मॉल, सिनेमा घर, उद्यान, पर्यटन स्थल, ऊर्जा उत्पादन केंद्र, बांध, रक्षा संस्थानों तथा अन्य सार्वजनिक स्थलों पर पुलिस के पुख्ता बंदोबस्त किए गए हैं। सभी होटल, लॉज, गेस्ट हाउस, रिसॉर्ट और अन्य स्थलों पर संदिग्ध लोगों पर कड़ी नजर रखी जा रही है। उन्होंने कहा कि माणिक शाह परेड मैदान पर सुबह नौ बजे मुख्यमंत्री सिद्धरामय्या स्वतंत्रता दिवस समारोह का उद्घाटन करेंगे। सुबह आठ बजे से साढ़े ग्यारह बजे तक कब्बन रोड पर वाहनों के प्रवेश पर प्रतिबंध रहेगा। उन्होंने कहा कि किसी भी संगठन से किसी तरह की कोई चेेतावनी नहीं मिली है। गुप्तचर विभाग से मिली सूचना के आधार पर ही पुलिस सुरक्षा का इंतजाम किया गया है। तटीय जिलों में हुई हिंसक वारदातों के चलते किसी संगठन पर प्रतिबंध लगाने के निर्देश नहीं हैं। आरएसएस कार्यकर्ता शरत की हत्या मांमले की जांच पूरी कर ली गई है और अरोपियों को शीघ्र गिरफ्तार किया जाएगा। यह हत्या योजनाबद्ध तरीके से की गई है। अभियुक्तों की तलाश में पुलिस केरल समेत कई राज्यों का दौरा कर जांच कर रही है। कोई नया नियम नहीं बनायाउन्होंने कहा कि गणेश चतुर्थी पर पुलिस ने कोई नए नियम या दिशा निर्देश जारी नहीं किए हैं। कुछ संगठनों ने गणेश मूर्तियों की प्रतिस्थापना के लिए इस बार कुछ नए नियम लागू करने के आरोप लगाए हैं लेकिन इनमें कोई सच्चाई नहीं है। गणेश मूर्तियों के विसर्जन के लिए निकाले जाने वाले जुलूस के दौरान सभी को नियमों का पालन करना होगा। स्वयंसेवकों का बंदोबस्त करने के अलावा उन्हे बैज देने होंगे।

चर्चित खबरें

सुझाया गया

loading...

रेकमेंडेड आर्टिकल्स

ट्रेंडिंग वीडियो

loading...
© Copyright © 2017 Newsfiller All rights reserved